Tagged: Hindi Sex Stories

मेरी माँ चुदाई के लिए पागल

प्रेषक अभिषेक, वैधानिक चेतावनी : प्यारे साथियो आपके लिए एक अंतरजातीय सेक्स कहानी लाया हूँ . भाइयो मेरा मकसद सिर्फ़ मनोरंजन करना और करवाना है किसी की भावनाओं को ठेस पहुँचाना नही आशा करता...

काले और मोटे लंड की चुदास

उसके बूब्स को हल्के हल्के मसलने लगा और उसकी तरफ से मुझे कोई भी शिकायत नहीं हुई तो में थोड़ा ज़ोर पे ज़ोर लगाने लगा और उसके निप्पल को बादाम के जैसा मजबूत बना दिया और अब मेरे दोनों हाथ उसकी कमर पर थे। दोस्तों में अब उसके बूब्स को हल्के हल्के मसलने लगा था

बॉयफ्रेंड से ज्यादा टीचर का लंड चूसने लायक

उसने मुझे बेड पर लेटाया और वो मेरे ऊपर आ गये। फिर वो मेरे बूब्स को चूसने लगे.. जैसे तो मानो मेरे बूब्स को खींचकर उखाड़ देंगे.. इतने ज़ोर ज़ोर से चूस रहे थे और कभी कभी दाँत से भी दबा रहे थे। फिर 15 मिनट तक उन्होंने मेरे बूब्स को दबाया चूसा और चाटा

मेरी प्यासी चूत को अपने लंड से बुझा दिया

इतना तगड़ा लंड देखकर वो एकदम से झूम उठी और अब वो उससे खेलने लगी और मेरे लंड को सहलाने लगी और अब उसने मेरा लंड चूसना भी शुरू कर दिया। वो ऐसे कर रही थी कि जैसे उसने आज तक ऐसा कुछ भी किया ही नहीं

मखमली चुत को चाट के झड़ाया

में झटके पर झटके मार रहा था और वो फक मी बेबी, ऑश यअहह फक मी जान कह रही थी। फिर 10 मिनिट की चुदाई के बाद मे वो झड़ गयी और जब वो झड़ रही थी तो उसका बदन देखने लायक था, पूरे शरीर मे कम्पन सा हो रहा था और वो बँधी हुई शेरनी की तरह छटपटा रही थी

चुत की नजाकत तो देखिये कितने लंड खाई

सुनील जोर से अपने लंड को मारने लगा और भाभी की सिसकियाँ अब बढ़ने लगी. प्रिया अपनी चूत को और भी धक्के से लंड पर घिसने लगी. सुनील के लंड ने तभी अपनी मलाई निकाली और प्रिया की चूत को संतृप्त किया. प्रिया भाभी ने भी लंड के ऊपर जोर से चूत के मसल को दबाया