ननद भाभी साथ में चुद्वाती है

प्रेषक नरेन्द्र,

अब शीला मेरे एकदम पास आई और बोली कि अलका तुझे पूरे मज़े नहीं दे सकती है, वो अभी बच्ची है। में तुझे आज बताउंगी कि मज़े कैसे लेते है? फिर शीला भाभी ने मेरे लंड पर हाथ रख दिया और उसे सहलाने लगी। अब मेरा लंड भी एकदम खड़ा हो गया था और फिर शीला ने मेरी पेंट की चैन खोलकर मेरे लंड को बाहर निकाल कर बोली कि तेरा तो काफ़ी बड़ा है, अलका की तो तू फाड़ ही देता होगा।

हैल्लो दोस्तों, ये कहानी इसी जनवरी की है। मेरे फ्लेट के पास वाले फ्लेट में शीला भाभी रहती है, मेरा उनकी ननद अलका के साथ चक्कर चल रहा था और हम दोनों ने कई बार सेक्स किया था। हमारा चक्कर 1 साल से चल रहा था। ये बात 30 जनवरी की दोपहर की है, जब मेरे घर में कोई नहीं था तो मैंने अलका को 11 बजे अपने घर बुला लिया कि आज पूरे दिन मस्ती करेंगे।

फिर वो मेरे घर पर आई और जैसा मैंने प्लान किया था, में उस पर टूट पड़ा। अब में उसे सीधे ही बेडरूम में ले गया और उसको नंगा कर दिया। हम पहले भी कई बार सेक्स कर चुके थे, तो ये हमारे लिए कोई नई बात नहीं थी।

अब उसको 2 बार चोदने के बाद हम बैठे हुए थे, तभी उसके फोन की घंटी बजी और अब उसकी भाभी उसे बुला रही थी, तो वो अपने कपड़े पहन कर अपने घर चली गयी।

फिर 2 बजे शीला ने मुझे अपने घर पर लंच के लिए बुलाया, तो में वहाँ गया तो अलका वहाँ नहीं थी। फिर मैंने पूछा कि अलका कहाँ है? तो वो बोली कि तुझे उसकी बड़ी याद आती है तो में थोड़ा चुप हो गया। फिर वो मेरे पास आकर बैठ गयी और मेरी आँखो में देखकर बोली कि तुम दोनों सुबह क्या कर रहे थे? कुँवारी चूत का पानी पीने का मेरा पहला मौका

तो मैंने धीरे से कहा कि कुछ नहीं ऐसे ही खेल रहे थे। फिर वो हंसते हुए बोली कि जैसे मुझे नहीं पता कि कौन सा खेल खेल रहे थे? तुम दोनों की इतनी आवाज़ आ रही थी, रूम तो ठीक से बंद कर लेते, में सब जानती हूँ ये जवानी के खेल। अब में थोड़ा सा डर गया था, लेकिन फिर सोचा कि अगर आवाज़ आ रही थी तो उन्होंने उस टाईम क्यों नहीं टोका? और जब हम दोनों अकेले है, तो ये बातें क्यों कर रही है?

फिर मैंने थोड़ी हिम्मत करते हुए चान्स लिया और बोला कि आपको पता था तो उस टाईम क्यों नहीं टोका? तो वो हंसते हुए मेरे और पास आई और बोली कि तुझे क्या लगता है? अब मेरा हौसला बढ़ चुका था और अब में समझ चुका था कि भाभी के क्या इरादे है?

अब शीला मेरे एकदम पास आई और बोली कि अलका तुझे पूरे मज़े नहीं दे सकती है, वो अभी बच्ची है। में तुझे आज बताउंगी कि मज़े कैसे लेते है? फिर शीला भाभी ने मेरे लंड पर हाथ रख दिया और उसे सहलाने लगी। अब मेरा लंड भी एकदम खड़ा हो गया था और फिर शीला ने मेरी पेंट की चैन खोलकर मेरे लंड को बाहर निकाल कर बोली कि तेरा तो काफ़ी बड़ा है, अलका की तो तू फाड़ ही देता होगा।

फिर मैंने कहा कि अलका से ही पूछ लो, तो वो हँसकर बोली कि उससे क्या पूछना? मेरी फाड़कर दिखा, तो वो मुझे बेडरूम की बजाए किचन में ले गयी और मुझे किचन की गैस पट्टी पर बैठा दिया और फ्रिज से कुछ निकालने लगी।

फिर वो थोड़ी देर में जेम और बटर लेकर आई, तो मैंने कहा कि ब्रेड खाओगी क्या? तो वो हँसने लगी और थोड़ा जेम और बटर मेरे लंड पर लगाने लगी। फिर मैंने उससे पूछा कि ये क्या कर रही हो? तो बोली कि बस देखते रहो। अब शीला ने मेरे लंड पर पूरी तरह से जेम और बटर लगा दिया और फिर उसे चाटने लगी। आप ये कहानी अन्तर्वासना स्टोरी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है।

ये भी पढ़े : मोटा लंबा लौड़ा जो रोज़ रात को मुझे ही ठंडी करे

अब वो मेरे लंड को ऐसे चूस रही थी कि मुझे आनंद आने लगा था। फिर 10 मिनट तक वो ऐसे ही मेरे लंड को चूसती रही और फिर मैंने उसके मुँह में अपने लंड को झाड़ दिया। अब वो पूरा जेम बटर और सफेद पानी पी गयी और फिर सब कुछ साफ़ करने के बाद वो बोली कि मेरा तो लंच हो गया, तू क्या खायेगा?

अब्बा का मोटा लंड मेरी छोटी चुत, बाप बेटी की चुदाई स्टोरी

फिर उसने अपना पेटीकोट ऊपर किया और अपनी चूत के दर्शन कराए। वैसे शीला दिखने में बहुत सेक्सी नहीं थी और उसका कलर भी थोड़ा गहरा था, तो मैंने उसके बारे में कभी ऐसा नहीं सोचा था। खैर अब मेरे सामने चूत थी तो छोड़ता कैसे? उसने अपनी चूत को एकदम साफ कर रखा था, उसकी चूत पर एक बाल का भी नामो निशान नहीं था, काली चूत में गुलाबी दरार एकदम मस्त लग रही थी।

कहानी जारी है ….. आगे की कहानी पढने के लिए निचे लिखे पेज नंबर पर क्लिक करे …

Pages: 1 2 3

Terms of service | Privacy PolicyContent removal (Report Illegal Content) | Feedback