माँ बेटी की चुदाई एक साथ डबल धमाल

गतांग से आगे …..

वो मैंने सब देख लिया है, तो में उन्हें सॉरी बोलने लगा और कहने लगा कि आगे से नहीं होगा, तब मुझे लगा कि उसने खुद अपनी बेटी को चुदवाते देखा तो क्यों नहीं कुछ बोली? तब मैंने पूछा कि आप क्या चाहती हो? तब उसने अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिए और चूसने लगी।

अब में पहले तो 2 मिनट तक कुछ समझ नहीं पाया और फिर में भी शुरू हो गया और चूसने लगा। फिर स्मूच के बाद वो बोली कि बेटा मैंने तुम्हारी पूरी चुदाई देखी है, में भी प्यासी हूँ प्लीज़ मेरी भी प्यास बुझाओ। फिर वो मुझे अपने स्टोर रूम में ले गई और मैंने उसे भी शीतल की तरह चोदा और अब वो बहुत खुश हो गई थी।

इसी तरह मेरी रोज़ की ड्यूटी बन गई थी। अब शीतल को कंप्यूटर टीचर की जॉब मिल गई थी। अब सुबह जब शीतल जॉब पर जाती तो में उसकी माँ को चोदता और रात को शीतल को चोदता। तभी उसने मुझे बताया कि उसके पापा का ट्रान्सफर जयपुर हो गया है और हम जयपुर जा रहे है।

फिर वो सब चले गये और आज पूरे 25 दिन हो गये है, में उसे और उसकी माँ को बहुत मिस करता हूँ, अब मेरे साथ कोई लड़की नहीं है। फिर उसने वहाँ पहुँच कर मुझे अपने पुराने नंबर से मैसेज किया कि अब हमारा कोई संपर्क नहीं होगा। दोस्तों मेरी ये कुछ पालो की एंजोयमेंट वाली कहानी कैसी है बताये??

सेक्सी और चूत चुदाई की कहानिया पढ़ने के लिए यहा क्लिक करे >>

Pages: 1 2

Terms of service | Privacy PolicyContent removal (Report Illegal Content) | Feedback