" "

जरीना की चुत का बारह बजा दिया

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम मंदार है मेरे बारे में तो आप सभी जानते ही होगे फिर भी मैं आप को बताता हूँ , मेरी उम्र 27 साल है और मैं रतलाम में रहता हूँ आप लोगो के लिये फिर गरमा गरम मनोरंजन के लिए हाजिर हूँ ! ये कहानी नहीं हकीकत हैं, यह बात सिर्फ तीन दिन पहले की हैं !

मैं जिस ऑफिस में काम करता हूँ उस ऑफिस में मेरे साथ जरीना नामकी एक लड़की भी काम करती है जिसकी उम्र 30 साल है उसका फिगर पूरा कसा हुआ है उसका साइज 34-32-36 और साथ में सेक्सी भी हैं मैं जब भी उसे देखता तो मेरा मन उसे चोदने के बारे में ही सोचता रहता एक दो बार तो मैंने उसकी सीने पे हाथ भी फेर दिया थाl

कभी कभी बात करते करते उसे छु भी लेता था! एक दिन तो उसे कह ही दिया “जरीना तुम बहुत ही सेक्सी लगती हो एक बार तो मैं तुम्हे चोदना चाहता हूँ ” जरीना -तेरे लंड में उतना जोर ही नहीं की मेरी प्यास मिटा सके ! ये सून के तो मेरा तो दिमाग काम करना बंद कर दिया लेकिन ख़ुशी भी हो रही थी की वो मेरे से इस भाषा में बात कर रही हैl

मैं कुछ नहीं बोला और सोचा की साली मादरचोद को एसा चोदुंगा की वो याद रखेगी इसका लंड है की क्या है? अब सीधा तीन दिन पहले की बात बताता हूँ! शनिवार के 2 बज रहे थे हम आफिस बंद कर रहे थे की अचानक एक मीटिंग आ गयी और आफिस में मैं , जरीना और हमारा आफिसर हम तीन लोग ही थे l

मैंने जरीना को रोक लिया कहा की एक घंटे के बाद चले जाना और चार बजे मीटिंग खत्म हो गयी हमारा आफिसर जज चुका था अब मैं और जरीना हम दो ही लोग बचे थे जरीना आफिस बंद कर रही थी मैंने सीचा की इससे अच्छा मौक़ा हैं ही नहीं जरीना ने सभी के केबिन लाक कर दिया था l

मैं जिस केबिन में था वो सिर्फ खुला था, जरीना मेरे पास आई और कहाँ “घर नहीं जाना है क्या ?” मैंने उसका हाथ पकड़ लिया खीच कर अपनी बाहों में जकड लिया और कहा “घर जाके मैं क्या करुगा मुझे जो चाहिए वो तो यहाँ है ”

जरीना- (मुस्कुराते हुए) तू आज पागल तो नहीं हो गया है ?
मैं- हाँ तुने उस दिन क्या कहा था ? मेरे लंड का आज इम्तिहान है !

कहते हुए दरवाजा अन्दर से बंद कर दिया उसे सोफे पे लिटा कर कीस्स् करने लगा और मेरा एक हाथ उसकी साडी में पेटीकोट के अन्दर दाल के उसकी चुत सहलाने लगा जब तक वो गीली नहीं हो गयी, अब मैंने ज्यादा समय न लेते हुए उसकी साडी उतारना शुरू कर दिया मैंने जल्दी उसे साडी से आजाद कर दिया अब वो केवल काले रंग की पैंटी और ब्रा में थी ऊपर से उसका गोरा गोरा कसा हुआ जिस्म मेरा लंड पैंट के अन्दर ही तनतना रहा था !

जरीना- मेरे तो सारे कपडे उतार दिया तू भी अपने सारे कपडे उतार !
मैं- इतनी जल्दी क्या हैं आज मैं तेरे को अपने लड़ का जोर दिखाउगा !

जरीना- देखती हूँ ना,
अब मैंने भी अपने सारे कपडे उतार दिया और अन्डर्वेअर भी उतार दिया मेरा 6.5 इंच का लंड जैसे ही निकाला जरीना बोली ”अरे बाप रे इतना ऐसा लंड तो मेरी चुत फाड़ देंगा तू शक्ल से शरीफ जैसा दिखता हैं ” मैंने कहाँ इसे चुसो ” जैसे ही उसने मेरा लंड मूह में लिया आह क्या मजा आ रहा था l आप यह कहानी अन्तर्वासना स्टोरी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है l

जरीना लालीपॉप की तरह मेरे लंड को चूसने लगी मैं समझ गया ये भी सेक्स करने माहिर और अनुभवी हैं ,फिर मैं खड़े खड़े ही उसकी ब्रा के हूक खोल दिया उसके दोनों मेमे मेरे सामने थे क्या मेमे थे गोरे गोरे हलके गुलाबी रंग के ,जो जरुरत स ज्यादा बड़े नहीं थे मैं उसकी मम्मो की चुस्सियो को मसलने लगा जरीना को भरपूर मजा आने लगा था !

मैं भी लंड चुस्वाते हुए मजा ले रहा था दस मिनट के बाद मैंने उसके मूह में अपना लंड निकला और उसकी पैंटी उतारी उसकी डबलरोटी की जैसी फूली हुई चुत पे एक भी बाल नहीं थे जरीना बोली “मेरे राजा आज ही साफ़ की है, देखते ही रहोगे या काम करोगे ऐसा तो नहीं की तुम्हे सब सिखाना पडेगा चलो अब शुरू हो जाओ” मैंने कहा “इतनी जल्दी क्या हैं ?

कहानी जारी है ….. आगे की कहानी पढने के लिए निचे लिखे पेज नंबर पर क्लिक करे …..

Pages: 1 2 3

Terms of service | Privacy PolicyContent removal (Report Illegal Content) | Feedback