Category: हिंदी सेक्स कहानियाँ

किरायेदार की बीवी को देख उत्तेजना

वो एकदम से उत्तेजित होने लगी और नीचे झुक कर मेरे पैंट में से लण्ड निकाल कर चूसने लगी। मेरा रोम-रोम खड़ा हो गया। मैं भी उसके स्तन दबाने लगा। उसने बाद में कहा- अब तुम्हारी बारी ! तब मैंने कहा- चलो 69 की दशा में आ जाते हैं !

पति के दोस्त के साथ मतलबी सेक्स

मेरी चूत उसके मुँह के बिल्कुल ऊपर थी और उसकी जीभ मेरी योनि को बुरी तरह से टटोल रही थी। उसकी गरम जीभ से मेरी योनि में और अधिक पानी छोड़ने लगी जिसे वो एक भंवरे क़ी तरह मदहोश सा चाट रहा था। काफी देर हो जाने पर मैं उसके मुँह पर से उठी और फिर से उसके लण्ड पर बैठने की कोशिश करने लगी।

मैडम के साथ चुदाई का पाठ पढ़ा

मैंने उसकी चूचियों से खेलना शुरु कर दिया जिससे वो भी दोबारा जोश में आने लगी, बोली- अब कोई दिक्कत नहीं है, अब बारी चूत की है, इसमें कोई कोम्प्रोमइज़ नहीं करना, चूत की प्यास बुझानी है।

चुचिया दबाकर चुत मार लिया

मैंने उसकी ब्रा का हुक खोल दिया और चूचियों को ब्रा की कैद से आज़ाद कर दिया, वो अब काफ़ी बड़ी हो गई थी और कसी थी। अपने जीवन में अब तक इतनी मस्त चूची कभी नहीं देखी थी मैंने मैंने एक चूची को मुँह में ले लिया और वो सिसकारने लगी। उसे पूरा मज़ा आ रहा था। फिर मैंने उसे अब बिस्तर पर लिटा दिया और उसकी पैंटी भी उतार दी

मुह मे लंड लेकर मजे से चूसने लगी

मैंने उसके टॉप को उतारा और उसके मम्मों के साथ खेलने लगा, उसकी चूचियाँ दबाने लगा। वो भी मुंह से सीत्कारें लेने लगी। मैंने उसका स्कर्ट उतारा और उसकी चिकनी चूत पर हाथ फेरने लगा तो वो उफ़.. आह.. की आवाजें निकालने लगी।

मेरी माँ चुदाई के लिए पागल

प्रेषक अभिषेक, वैधानिक चेतावनी : प्यारे साथियो आपके लिए एक अंतरजातीय सेक्स कहानी लाया हूँ . भाइयो मेरा मकसद सिर्फ़ मनोरंजन करना और करवाना है किसी की भावनाओं को ठेस पहुँचाना नही आशा करता...