चुदक्कड़ फॅमिली की चुदाई की कहानी

गतांग से आगे …..

फिर आयुष्मान ने रेणुका के बूब्स से खेलना शुरू किया और माँ ने आयुष्मान का लंड मुँह में लेकर चूसना शुरू कर दिया और चंपा मेरा लंड मुँह में लेकर चूसने लगी तो में एकदम से उसके मुँह में झड़ गया। तो चंपा बोली कि क्या बाहर नहीं निकाल सकते थे? मेरा पूरा मुँह खराब कर दिया।

फिर माँ बोली कि प्रतिक आज रात में तेरे साथ सोऊंगी और तू आज पूरी रात मुझे चोदना। तो में बोला कि ठीक है। उधर आयुष्मान ने जैसे ही रेणुका की चूत में लंड सेट किया और एक जोर का धक्का मारा तो रेणुका रोने लगी.. उईईई माँ मार डाला.

मेरी चूत फट गई.. माँ बचाओ मुझे.. आयुष्मान बाहर निकाल अपना गधे जैसा लंड। रेणुका के बूब्स को चंपा चूसने लगी और उसे गरम करने लगी.. जिससे कि उसका थोड़ा दर्द कम हो और फिर थोड़ी देर बाद रेणुका भी आयुष्मान का साथ देने लगी और आयुष्मान थोड़ा रुककर फिर से चुदाई करने लगा।

उसने रेणुका की चुदाई खत्म करके मेरी माँ और चंपा की भी चुदाई शुरू कर दी.. उसने सभी की चूत को चोद चोदकर लाल कर दिया और फिर एक एक करके वो सभी थककर बेड पर लेट गए कोई आयुष्मान का लंड चूसता तो कोई उसके मुहं में बूब्स देकर उसको गरम करता और आयुष्मान भी किसी की चूत में उगंली डालता तो किसी की गांड में और इस तरह वो सभी ग्रुप सेक्स करके बहुत खुश रहने लगे।

दोस्तों हमारे घर का माहोल ऐसा बन गया है कि में तो अपना कारोबार देख रहा हूँ और आयुष्मान खुले सांड की तरह घर में रहता है और उसका जब दिल करे किसी ना किसी को चोद देता है। दिन की गर्मी में तो चंपा माँ रेणुका और आयुष्मान नंगे घूमते है और जब दिल करे, जहाँ दिल करे चुदाई शुरू कर देते है।

रिश्तों में डर्टी सेक्स की मजेदार कहानिया पढ़ने के लिए यहा क्लिक करे >>

Pages: 1 2 3 4 5

  • R.K. Singh

    wow. very awsome story and also ur family r great

  • ashu

    Kucky gyuy if it is real story. It is not that a man having penis of size of 3.5′ cannot satisfy a girl.

Terms of service | Privacy PolicyContent removal (Report Illegal Content) | Feedback