Author: soren

चुत की नजाकत तो देखिये कितने लंड खाई

सुनील जोर से अपने लंड को मारने लगा और भाभी की सिसकियाँ अब बढ़ने लगी. प्रिया अपनी चूत को और भी धक्के से लंड पर घिसने लगी. सुनील के लंड ने तभी अपनी मलाई निकाली और प्रिया की चूत को संतृप्त किया. प्रिया भाभी ने भी लंड के ऊपर जोर से चूत के मसल को दबाया

माँ बहन की चूत का सबसे बड़ा फ़ैन

अम्मी जी मेरे लंड को मसलती रही पेन्ट के उपर से ही. अब मेरे बर्दाश्त से बाहर होये जा रहा था में सब भूल जा रहा था की यह मेरी माँ है. मैं पागल होया जा रहा था. मैंने अम्मी जी के बोबो को चाटना शुरु कर दिया.

मैं बेड पर लेट गया और अम्मी जी मेरे उपर लेट गयी और मेरे पूरे जिस्म को चाटना शुरु कर दिया उसके बाद उन्होने मेरी पेन्ट की चैन खोली और अपना हाथ अन्दर डाल दिया

जीभ को लग गया चूत का चस्का

मैंने उसके एक बूब्स को एक हाथ में लिया और दूसरा हाथ उसकी पेंटी में डाल दिया और उसकी चूत को पहली बार छूकर देखा. मेरे छूते ही वो बिल्कुल पागल हो गयी और उसने एकदम से पलटकर मुझे बिल्कुल टाईट पकड़ लिया और मुझे लिप किस करने लगी और सिसकियाँ लेने लगी.मुझे पता चल चुका था कि अब सब कुछ मेरे हाथ में या मेरे लंड में है. में उसकी चूत को पेंटी के अंदर ही बार बार छू रहा था और धीरे धीरे सहला रहा था

सील पैक चूत को लंड चुसवा के चोदा

मुझे लड़कियों में बहुत दिलचस्पी थी, मेरा मन उनके साथ सेक्स करने का करता था परन्तु मुझे कोई लड़की मिलती ही नहीं थी। वैसे मेरी बहुत सी लड़कियां फ्रेंड भी थी परन्तु मैं उनके...

चाची की चुत घर में ही बज गई

उसके बूब्स दबाने लगा। अब उसके बूब्स कड़क हो गये थे, तो तब मैंने उन्हें पकड़कर अपना लंड बाहर निकाला और फिर से एक झटका दिया तब प्रियंका चीखी मयंक धीरे-धीरे डालो ना प्लीज दर्द होता है। तब में धीरे-धीरे अपना लंड बाहर निकालकर उसे ठोकने लगा

पहली बार स्कूल में खेला चुदाई का खेल

पहली बार स्कूल में खेला चुदाई का खेल, बाबु और जोश में चुनमुनिया को मसलने लगा.. उसने मसल-मसल कर मेरी चुनमुनिया लाल कर दी थी उसके इस तरह से रगड़ने से मेरी मुन्नी 2-3 बार झड़ चुकी थी बहुत गीला हो गया था बाबु के हाथ भी गीले हो गए थे सारा पानी निकल बाहर रहा था, मैं निढाल हो रही थी