Author: शीतल चौहान

चुत बनी रसीली गन्ने के खेत मे

मैने उसके बूब्स को उसकी ब्रा से आज़ाद कर दिया और वो खुली हवा मे आ गये और मैं उनका रस्पान करने लगा ओर वो इस मस्ती मे, आहह आआआ की आवाज़े निकालने लगी. इसी बीच मे मैने एक हाथ से उसकी सलवार का नाडा खोल दिया ओर उसकी पेंटी मे हाथ डाल दिया. अब वो इस समय इतनी मस्त हो चुकी थी कि उसने कोई विरोध नही किया

उसके हाथ की रगड़ बड़ी ही मस्त कर देने वाली थी

उसका हाथ बड़ा ही टाइट था चूत पर उसके हाथ की रगड़ बड़ी ही मस्त कर देने वाली थी. मैने भी धीरे धीरे अपना हाथ उसके लंड की तरफ बढ़ा दिया. जैसे ही उसका लंड मेरे हाथ में आया, में पागल हो उठी और ख़ुशी से “आह” निकाल गयी

लड़कियां जाने कैसे गांड मरवा लेती है माँ की लौड़ी

कहानी पढ़ कर मुठ मरना चुत में अंगुली करना ना भूलिए |  हाय दईया, आज मैं पहली बार देख रही हूँ जेठानी की चबूतरा जैसी बुर चोदी ?  शक तो मुझे बहुत दिनों से ही...

हमारी चुदाई के राजा भैया

हाइ! आज आपको हम दोनो बहनों की चुदाई की कहानी बतौंगी उससे पहले मै अपना परिचय दे दु. आइ’म नेहा,मै राजस्थान से हूँ, मेरी उम्र 19 है, ये मेरी सच्ची इंडियन सेक्स स्टोरी है, मैं पढ़ाई...

बॉयफ्रेंड का मोटा लंड मेरी चूत फाड़ दिया

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम शीतल है और में देहरी ऑन सोन, बिहार की रहने वाली हूँ। अन्तर्वासना स्टोरी डॉट कॉम पर यह मेरी पहली कहानी आप लोगो से शेयर कर रही हूँ | बॉयफ्रेंड...